मंगलवार, जुलाई 14, 2009

सम्लेंगिकिता पर फिराक गोरखपुरी

समलेंगिकिता- यदि आज फिराक गोरखपुरी होते तो क्या कहते?
में हिंदी उर्दू के ब्लाग्गरों के विचार इस संभावना पर आमंत्रित करता हूँ की यदि आज मशहूर शायर फिराक गोरखपुरी होते तो समलेंगिकिता पर छिडी बहस पर क्या प्रतिक्रिया देते और यदि ऑस्कर वाइल्ड होते तो वे क्या कहते?

1 टिप्पणी:

  1. सही कहा आपने
    हिन्दी ब्लॉग नेटवर्क पर अपना ब्लॉग बनायें और अपने उत्कृष्ट लेखों की कीमत वसूल करें। आप अपना मौजूदा ब्लॉग वहां इम्पोर्ट कर सकते हैं।

    उत्तर देंहटाएं